*साहित्यकार स्वर्गीय हनुमान प्रसाद दीक्षित के जन्म दिवस पर आयोजित हुआ साहित्यिक कार्यक्रम.....*

◆ स्थानीय एन.बी.वी. ( अंग्रेजी माध्यम ) स्कूल मैं आज सांय नोहर के प्रसिद्ध साहित्यकार स्वर्गीय हनुमान प्रसाद दीक्षित के जन्मदिवस पर एक साहित्यिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया । कार्यक्रम में सर्वप्रथम श्री दीक्षित के चित्र पर माला व पुष्प अर्पित किए गए । इस उपरांत स्वर्गीय हनुमान प्रसाद दीक्षित द्वारा लिखी गई पुस्तक *कोई तो है* कि एक रचना *पिछला अध्याय* शिक्षाविद महेंद्र प्रताप शर्मा द्वारा वाचन किया गया । कहानी पिछला अध्याय पर पधारे सभी वक्ताओं ने अपने अपने विचार रखें उन्होंने कहा कि कहानी पिछला अध्याय आज देश के वर्तमान हालात पर बिल्कुल सटीक रूप से मेल खाती है व आज का युवा इसी दिशा में जा रहे हैं जिससे हमें बचना व दूरी बनानी होगी । कार्यक्रम में *साहित्यकार शिवराज "भारतीय" भरत ओळा, महेंद्र प्रताप शर्मा, मोहर सिंह, रमेश शर्मा, योगेश धेरङ, शंकर लाल वर्मा व अन्य* ने गुरूजी के साथ बिताए सुनहरे पल व अपनी यादों को स्मरण कर सबसे साझा किए । सभी वक्ताओं ने कहा कि गुरूजी बहुत ही विनोदी स्वभाव के थे बच्चों के बीच बच्चे और बड़ों के बीच बड़े थे उन्होंने अपने जीवन में कभी हार नहीं मानी उन्होंने सभी को यही कहा था कि सीखने की कोई उम्र नहीं होती हम उम्र के किसी भी पड़ाव में किसी न किसी से कुछ नया सीखते हैं । अंत में साहित्यकार हनुमान प्रसाद दीक्षित के पुत्र राकेश दीक्षित ने कहा कि हमारे द्वारा पिताश्री की स्मृति में हमेशा आप सब के सहयोग से ही कार्यक्रम आयोजित होते रहे हैं व भविष्य में भी कार्यक्रम का आयोजन जारी रहेगा । कार्यक्रम का शानदार मंच संचालन *महेंद्र कुमार मिश्रा* ने किया ।

*ये रहे मौजूद....*

■ रमेश कुमार खटोतिया, सुशील आचार्य, महिपाल सैनी, किशन चाचाण, मदन शर्मा, मनोज कौशिक, संजय कुमार, राकेश नागल, प्रयागचंद सैन, किशोर तिवाड़ी, राजेन्द्र तिवाड़ी, मांगीलाल व्यास आदि मौजूद थे ।

श्री शारदा साहित्य संस्थान नोहर व् कविता कोश नोहर के सयुंक्त तत्वाधान में नोहर के गार्गी कन्या स्नात्कोतर महाविद्याल  नोहर में दिनांक 06-01-2018 आयोजित कार्यक्रम "सूत्र "

हिन्दी व राजस्थानी के मूर्धन्य साहित्यकार,शिक्षाविद व राजनीतिज्ञ स्वर्गीय श्री हनुमान दीक्षित समृति साहित्य सम्मान व पुरस्कार और विराट कवि सम्मेलन का आयोजन दिनांक 11-11-2017 को श्री राम वाटिका नोहर मे होगा। अत: आप सभी से अनुरोध कि ज्यादा से ज्यादा संख्या मे इस कार्यक्रम मे पंहुंच कर कार्यक्रम को सफल बनाएँ । धन्यवाद।
*आगामी 11नवम्बर, 2017 को होगा "स्वर्गीय श्री हनुमान प्रसाद दीक्षित स्मृति साहित्य समारोह एवं विराट कवि सम्मेलन"*
*कार्यक्रम को लेकर हुआ बैठक का आयोजन*
 *"इस कार्यक्रम में निर्णायक मण्डल द्वारा तय किये गये एक साहित्यकार को नगद राशि सहित सम्मानित किया जायेगा तथा किसी एक साहित्यकार की रचना को प्रकाशनार्थ सहयोग भी दिया जायेगा।"*
दिनांक 30/9/17 स्थानीय पारीक भवन नोहर मे शाम 5.30 बजे *शारदा साहित्य संस्थान नोहर के तत्वधान में "स्वर्गीय श्री हनुमान प्रसाद दीक्षित स्मृति साहित्य समारोह एवं विराट कवि सम्मेलन 2017"* के आयोजन की तैयारी हेतु *शिक्षाविद् श्री हरीश जी शर्मा की अध्यक्षता*में एक बैठक का आयोजन किया गया।जिसमें *दिनांक 11 नवम्बर, 2017 को कार्यक्रम आयोजित होना निश्चित* किया गया।इस *बैठक में साहित्यकार डॉ. भरत ओला,प्रधानाचार्य डॉ. शिवराज भारतीय,प्रधानाचार्य शंकर लाल वर्मा,व्याख्याता महेन्द्र मिश्रा,व्याख्याता महेन्द्र प्रताप शर्मा,व.अ. राजेश जोशी,रमेश शर्मा,मंगतुराम पण्डा,जितेन्द्र मिश्रा,मूरलीधर छिम्पा,ग्रा.स.रमेश खटोतिया,पत्रकार मोहरसिंह आदि गणमान्य व्यक्तियों*ने भाग लिया।बैठक में बताया गया कि इस कार्यक्रम में निर्णायक मण्डल द्वारा तय किये गये एक साहित्यकार को नगद राशि सहित सम्मानित किया जायेगा।तथा किसी एक साहित्यकार की रचना को प्रकाशनार्थ सहयोग भी दिया जायेगा। *इस बैठक में स्व. श्री हनुमान प्रसाद दीक्षित के सुपुत्र श्री राकेश दीक्षित भी उपस्थित रहे* और इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिये सभी से अपील की।

वरिष्ठ साहित्यकार श्री हनुमान दीक्षित का निधन 

राजस्थानी व हिन्दी के वरिष्ठ   साहित्यकार,शिक्षक,संपादक,पत्रकार,राजनीतिज्ञ  ,श्री शारदा साहित्य संस्थान के अध्यक्ष व राजस्थानी भाषा ,साहित्य संस्कृति अकादमी के पूर्व उपाध्यक्ष पूर्व भाजपा नगर मण्डल अध्यक्ष   श्री हनुमान दीक्षित  का  दिनांक 17-12-2015  को नोहर मे स्वर्गवास हो गया ।  बड़ी संख्या मे  गणमान्य व्यक्तियों ,साहित्यकारों ,राजनेताओं व नागरिकों ने उनके निधन पर शोक व्यक्त किया व उनको अंतिम विदाई दी। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें । माध्यमिक शिक्षा बोर्ड राजस्थान कि कक्षा 11वीं के पाठ्यक्रम मे आपकी रचना बंटवारों आज भी  बच्चों को पढ़ाई जा रही है। उनको अनेकों पुरुस्कारों से सम्मानित किया गया  उनको  राजस्थान रत्नाकर दिल्ली से महेंद्र जाजोदिया पुरस्कार व अणुव्रत मंच राजस्थान जयपुर द्वारा नोहर श्री सम्मान पुरस्कार से सम्मानित किया गया .उन्होने  अनेको हिंदी व राजस्थानी  मे पुस्तकें लिखी है .व  कई सामाजिक ,शेक्षणिक ,साहित्यिक ,व धार्मिक संस्थाओं से संबधित व सम्मानित रहे  है । राजस्थान रत्नाकर सम्मान उनकी राजस्थानी भाषा मे लिखी पुस्तक गाँव गली री कहानिया पर दिया गया,जिस पुस्तक का अनेकों भाषाओ मे अनुवाद हुआ है। 

वरिष्ठ साहित्यकार श्री हनुमान दीक्षित को मातृशोक

राजस्थानी व हिन्दी के वरिष्ठ   साहित्यकार ,श्री शारदा साहित्य संस्थान के अध्यक्ष व राजस्थानी भाषा ,साहित्य संस्कृति अकादमी के पूर्व उपाध्यक्ष  श्री हनुमान दीक्षित की माता श्रीमति पांची देवी का दिनांक 11-01-2013 शुक्रवार को नोहर मे स्वर्गवास हो गया । वे 94 वर्ष की थी ।  अनेकों गणमान्य व्यक्तियों ,साहित्यकारों ,राजनेताओं व नागरिकों ने उनके निधन पर शोक व्यक्त किया । ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें ।

अकादमी द्वारा 16 पुस्तकों पर 1.38 लाख रु. का सहयोग

अकादमी द्वारा 16 पुस्तकों पर 1.38 लाख रु. का सहयोग उदयपुर/3 जनवरी, 2013: राजस्थान साहित्य अकादमी की ‘‘प्रकाशित ग्रंथों पर सहयोग’’ योजना अन्तर्गत इस वर्ष 16 गं्रथों पर लेखकों को 1.38 लाख रु. का आर्थिक सहयोग स्वीकृत किया गया है। अकादमी अध्यक्ष श्री वेद व्यास ने अवगत कराया कि इस योजना में अकादमी - ‘पत्थर होते हुए’ (काव्य) श्री सत्यदीप (श्रीडूंगरगढ़), ‘दस्तक’ (काव्य) श्री विकास चतुर्वेदी (जयपुर), ‘भीगी पलकों में उजास’ (कहानी) श्रीमती रेखा पंचोली (कोटा), ‘क्षमादान’ (कहानी) श्रीमती बीना चैहान (जयपुर), ‘आधा सुख आधा चाँद’ (कहानी) श्री राजेश कुमार भटनागर (अजमेर) को 10-10 हजार रु. का सहयोग प्रदान करेगी। इसी प्रकार ‘स्पंदन’ (काव्य) श्री कैलाश पण्डा (नोहर), ‘दर्द में डूबी सदा’ (काव्य) श्री हरीश पाथेय (झालावाड़), ‘कितनी अकेली है धूप’ (काव्य) डाॅ. सुधीर सोनी (जयपुर), ‘सबके साथ मिल जाएगा’ (काव्य) श्री राजेश जोशी (बीकानेर), ‘प्रतीक से पहचान मुझे’ (काव्य) श्री लक्ष्मीनारायण आचार्य (बीकानेर), ‘खिल गया जो शब्द’ (काव्य) श्री विशन मतवाला (बीकानेर), ‘सच्चे दोस्त’ (कहानी) श्री गोविन्द भारद्वाज (अजमेर), ‘नई रोशनी’ (कहानी) श्री संजय जगनाल (बीकानेर), ‘कोई तो है और अन्य कहानियां’ (कहानी) श्री हनुमान दीक्षित (नोहर) , ‘वैदेही’ (उपन्यास) श्रीमती शारदा शर्मा (संगरिया), ‘प्रकृति चिन्तन’ (चिन्तन) श्री अशोक गुप्ता (कोटा) को 08-08 हजार रु. का सहयोग प्रदान करेगी। सचिव
 

  Daily Horoscope

From Newspapers and TV